फीफा प्लेयर ऑफ द ईयर : क्या क्या हुआ ?

फीफा प्लेयर ऑफ द ईयर : क्या क्या हुआ ?

बायर्न म्यूनिख के रॉबर्त लेवनदॉस्की को फीफा ने 2020 का बेस्ट फुटबॉलर (FIFA Player for 2020) घोषित किया है। पिछले साल के विनर लियोनल मेसी और क्रिस्टियानो रोनाल्डो को पछाड़कर पोलैंड के इस स्ट्राइकर ने यह अवॉर्ड जीता। 32 साल के लेवनदॉस्की ने पिछले सीजन के 47 मैच में 55 गोल किए हैं। खास बात ये है कि लेवनदॉस्की को इससे पहले कभी इस अवॉर्ड के लिए नॉमिनेट भी नहीं किया गया था। पहली ही बार वे नॉमिनेट हुए और विजेता भी बने।

मैनचेस्टर सिटी की डिफेंडर लूसी ब्रोंज को बेस्ट वुमन फुटबॉलर ऑफ द ईयर घोषित किया गया। विनर्स का ऐलान नेशनल टीम्स के कप्तान और कोच के नॉमिनेशन्स के आधार पर किया गया। इसके अलावा 200 मीडिया रिप्रेजेंटेटिव्स ने फैन्स के ऑनलाइन बैलेट्स को भी इस चुनाव का आधार बनाया।

लेवनदॉस्की ने पहली बार अवॉर्ड जीता
लेवनदॉस्की ने पहली बार फीफा का यह अवॉर्ड जीता है। वे इंटरनेशनल फुटबॉल में करीब 7 साल से मौजूद हैं। बार्सिलोना के फॉरवर्ड मेसी और युवेंटस के रोनाल्डो भी इस दौड़ में लेवनदॉस्की को कड़ी टक्कर दे रहे थे। बायर्न के लिए इस सीजन में उन्होंने पिछले 14 मैच में ही 16 गोल किए हैं।

अवॉर्ड के ऐलान के बाद इस फुटबॉलर ने कहा- अगर आपका मुकाबला मेसी और रोनाल्डो जैसे महान प्लेयर्स से हो और फिर भी आप इस अवॉर्ड के हकदार बन जाएं तो वास्तव में यकीन करना मुश्किल हो जाता है। मैं ही जानता हूं कि यह सम्मान मेरे लिए कितना बेशकीमती साबित होगा।

बहुत वक्त लगा यहां तक पहुंचने में
एक सवाल के जवाब में लेवनदॉस्की ने कहा- बहुत पहले मैं इस तरह के अवॉर्ड्स या बातों के बारे में सिर्फ सोचा करता था। आज यह मुझे मिला है तो यकीन करना मुश्किल हैं। यह मेरे लिए बहुत मायने रखता है। इस वक्त यह अहमियत नहीं रह जाती कि आप कहां से आते हैं। मायने सिर्फ यह रखता है कि आपने क्या कर दिखाया है।

क्लोप्प फिर बेस्ट कोच
लिवरपूल के जुर्गेन क्लोप्प फिर बेस्ट कोच चुने गए। उन्होंने अपनी टीम को पहली बार प्रीमियर लीग टाइटल जिताया। यह लगातार दूसरी बार है जब क्लोप्प को इस अवॉर्ड यानी बेस्ट कोच के लिए सम्मान मिला। इसके पहले 2019 में उन्हें यह अवॉर्ड मिला था। अवॉर्ड मिलने के बाद क्लोप्प ने कहा- मैं तो हैरान हूं।

बेस्ट गोलकीपर
बायर्न म्यूनिख के मैनुअल नुएर को बेस्ट गोलकीपर चुना गया। उन्होंने एटलेटिको मैड्रिड के यान ओब्लाक को पीछे छोड़ दिया। नुएर बुंदेसलीगा के 33 मैच में सिर्फ 31 गोल खाए।

बेस्ट गोल अवॉर्ड
टोटेनहम के फॉरवर्ड सोन ह्यूंग मिन को बेस्ट गोल के लिए पुस्कास अवॉर्ड से नवाजा गया है। उन्होंने पिछले साल बर्नेले के खिलाफ बेस्ट सोलो (अकेले) गोल किया था।


Share Tweet Send
0 Comments
Loading...