परदे के पीछे की कहानी : ग्लैमर और फिल्म इंडस्ट्री को गहराई से दिखाती हैं ये बॉलीवुड फिल्में

परदे के पीछे की कहानी : ग्लैमर और फिल्म इंडस्ट्री को गहराई से दिखाती हैं ये बॉलीवुड फिल्में

बॉलीवुड और ग्लैमर इंडस्ट्री की चकाचौंध हर किसी को अपनी ओर आकर्षित करती है। हर कोई जानना चाहता है कि आखिर हर समय लाइम लाइट में रहने वाले उनके पसंदीदा सेलेब्स की असल जिंदगी आखिरी कैसी होती है। बॉलीवुड में अब तक कई ऐसी फिल्में बन चुकी हैं जो पर्दे के पीछे की असल कहानी दर्शाती हैं और ग्लैमर वर्ल्ड की सच्चाई से रूबरू करवाती हैं।

द डर्टी पिक्चर- विद्या बालन, नसीरुद्दीन शाह, इमरान हाशमी और तुषार कपूर स्टारर फिल्म द डर्टी पिक्चर साल 2011 में रिलीज हुई थी। ये फिल्म साउथ सिनेमा की मशहूर एक्ट्रेस सिल्क स्मिता की असल जिंदगी पर बनाई गई है जिसमें विद्या ने उनका किरदार बखूबी निभाया गया है। फिल्म में दिखाया गया है कि कैसे एक्ट्रेस को अचानक ही ब्रेक मिला और कैसे पहली फिल्म से उनके सभी सीन डायरेक्टर द्वारा काटे गए। सिल्क अपने करियर के लिए कई लोगों का सहारा लेती हैं।

फैशन- मधुर भंडारकर द्वारा निर्देशित फिल्म फैशन एक बड़ी हिट फिल्म साबित हुई थी। फिल्म में कंगना रनोट, प्रियंका चोपड़ा, मुग्धा गोडसे, अरबाज खान और समीर सोनी लीड किरदारों में थे। फिल्म में दिखाया गया है कि कैसे एक छोड़े शहर से सुपरमॉडल बनने का सपना लिए आई मेघना मुंबई में अपने सपने पूरे करती हैं। कामयाबी मिलने पर मेघना अभिमानी हो जाती हैं उनके दोस्त और बड़े प्रोजेक्ट दोनों हाथ से निकल जाते हैं। पछतावा होने पर मेघना दोबारा मुश्किलों का सामना करने के बाद अपना कमबैक करती हैं।

हीरोइन- साल 2012 में रिलीज हुई फिल्म हीरोइन में करीना कपूर, अर्जुन रामपाल और रणदीप हुड्डा ने अहम भूमिका निभाई थी। फिल्म में करीना ने एक फिल्म एक्ट्रेस का किरदार निभाया है जो अपने लव रिलेशन के चलते चर्चा में रहती हैं। डूबने करियर को बचाने के लिए एक्ट्रेस एक ऐसी पीआर (दिव्या दत्त) का हाथ थामती हैं जो उनके बारे में सेंसेशनल खबरें लिखकर उन्हें सुर्खियों में लाती हैं। एक्ट्रेस बड़ी फिल्मों में काम करने के लिए अपने कनेक्शन का इस्तेमाल करती हैं। मधुर भंडारकर के निर्देशन में बनी फिल्म एक बड़ी हिट साबित हुई थी।

पेज 3- हीरोइन और फैशन से पहले मधुर भंडारकर फिल्म पेज 3 के जरिए ग्लैमर वर्ल्ड की सच्चाई दिखा चुके हैं। साल 2005 में रिलीज हुई ये फिल्म सेलिब्रिटी रिपोर्टर माधवी की कहानी है। इंडस्ट्री के लोगों से मिलते जुलते उन्हें एहसास होता है कि ये इंडस्ट्री बाहर से जैसी खुशहाल दिखती है वाकई में उससे बिल्कुल अलग है। फिल्म में कोंकणा सेन शर्मा, अतुल कुलकर्णी, सोनी राजदान, तारा शर्मा और संध्या मृदुल ने अहम भूमिकाएं निभाई हैं।

लक बाय चांस- साल 2009 में रिलीज हुई फिल्म में आपको फिल्म की मेकिंग और कास्टिंग की कहानी देखने मिलेगी। ये फिल्म छोटे शहरों से एक्टर बनने का सपना लिए आए विक्रम जय सिंह (फरहान अख्तर) और सोना मिश्रा ( कोंकणा सेन शर्मा) की है जिन्हें एक दूसरे से प्यार हो जाता है। काम की तलाश में भटक रहे दोनों नौजवान कड़ी मेहनत करते हैं जिनमें से विक्रम को एक फिल्म में लीड एक्टर का रोल मिलता है। अपने करियर और बड़े बजट की फिल्म में काम करने के लिए विक्रम अपनी गर्लफ्रेंड सोना को धोखा देकर स्टार किड (ईशा शेरवानी) के साथ अफेयर कर बैठते हैं। एक्टर विक्रम की पर्सनल लाइफ के इस मुद्दे को मीडिया में काफी बुरी तरह उछाला जाता है।

कैलेंडर गर्ल- मधुर भंडारकर निर्देशित फिल्म साल 2015 में रिलीज हुई थी जिसमें 5 ऐसी कैलेंडर गर्ल्स की कहानी दिखाई गई है जो छोड़े शहरों से बड़े ख्वाब लेकर मुंबई आई हैं। सभी मॉडल्स अच्छे काम की तलाश और कामयाबी पाने के लिए इंडस्ट्री में कई उतार चढ़ाव देखती हैं। इस दौरान उन्हें इस इंडस्ट्री की सच्चाई देखने मिलती हैं।

जूली 2- साल 2017 में रिलीज हुई फिल्म जूली 2 कास्टिंग काउच पर प्रकाश डालती है। इस फिल्म में दिखाया गया है कि कैसे एक्ट्रेस जूली को काम पाने और लाइमलाइट में रहने के लिए हर बार समझौता करना पड़ता है। फिल्म में राई लक्ष्मी, पंकज त्रिपाठी, आदित्य श्रीवास्तव और रति अग्निहोत्री ने अहम किरदार निभाए हैं।


Share Tweet Send
0 Comments
Loading...