ऋचा चड्ढा की फिल्म 'शकीला'का रिलीज डेट फिक्स

ऋचा चड्ढा की फिल्म 'शकीला'का रिलीज डेट फिक्स

अमर उजाला । अभिनेत्री ऋचा चड्ढा की बनकर तैयार हो चुकी एक फिल्म 'शकीला' को रिलीज होने का रास्ता मिल गया है। फिल्म के निर्देशक इंद्रजीत लंकेश ने एक इंटरव्यू में यह साफ कर दिया है कि दक्षिण भारतीय फिल्मों की पोर्नोग्राफिक अभिनेत्री शकीला की बायोपिक को वह जल्द ही सिनेमाघरों में उतार देंगे। इसके लिए उन्होंने क्रिसमस यानी 25 दिसंबर की तारीख निश्चित की है। यह फिल्म युवा अभिनेता वरुण धवन और सारा अली खान की ओटीटी पर इस दिन रिलीज होने वाली फिल्म 'कुली नंबर 1' के लिए मुश्किलें बढ़ाएगी।

इंद्रजीत ने फिल्म 'शकीला' की शूटिंग वर्ष 2018 में शुरू की थी और वह इस फिल्म को इस साल गर्मियों में भी रिलीज करने वाले थे। लेकिन, कोरोना वायरस की वजह से हुए लॉकडाउन के कारण जब देश में सिनेमाघरों पर ताले लटक गए तो यह फिल्म रिलीज नहीं हो सकी। अब इंद्रजीत ने फैसला किया है वह अपनी इस फिल्म को क्रिसमस के मौके पर सिनेमाघरों में रिलीज करेंगे। यह कहानी 90 के दशक में मलयालम फिल्मों में पोर्न स्टार के रूप में काम करने वाली अभिनेत्री शकीला की बायोपिक है। ऋचा चड्ढा इस फिल्म में शकीला का ही मुख्य किरदार निभाती हुई नजर आएंगी।

फिल्म 'शकीला' के साथ ऋचा चड्ढा एक तरह से अभिनेत्री विद्या बालन के नक्शे कदम पर चल पड़ी हैं। विद्या ने फिल्म 'द डर्टी पिक्चर' में जिस तरह सिल्क स्मिता का किरदार निभाकर नई चुनौतियां पेश कीं, वैसे ही ऋचा चड्ढा भी एडल्ट स्टार शकीला का बेहद चुनौतीपूर्ण किरदार पर्दे पर निभाकर बड़ा मुकाम हासिल करना चाहेंगी। ऋचा के साथ फिल्म में पंकज त्रिपाठी, राजीव पिल्लै, राजीव रवींद्रनाथन, आदि कलाकार मुख्य भूमिकाओं में होंगे। निर्देशक इंद्रजीत के अनुसार यह कहानी मानवीय भावना की जीत पर आधारित है।

इंद्रजीत का कहना है कि मलयालम फिल्म इंडस्ट्री हमेशा से पुरुष प्रधान रही है और जब इसमें शकीला ने कदम रखा तो पूरा दृश्य ही बदल गया। शकीला को फिल्मों में रातों-रात प्रसिद्धि मिल गई और पसंद किया जाने लगा। उनकी फिल्में सौ दिनों तक सिनेमाघरों में चलने लगीं।

मलयालम फिल्मों के बड़े कलाकारों को शकीला की बढ़ती लोकप्रियता से डरने लगने लगा। तो, उन्होंने शकीला की फिल्मों के लिए दिक्कतें बढ़ाना शुरू कर दीं। कई निर्माताओं ने शकीला से अपनी फिल्मों के लिए दिए एडवांस रुपये भी वापस ले लिए। थक हार कर शकीला को वापस अपने छोटे से घर में जाकर रहना पड़ा।

इंद्रजीत के अनुसार फिल्म 'शकीला' दिखाती है कि किस तरह से एक महिला पूरी फिल्म इंडस्ट्री के सामने आकर खड़ी हो गई और उसकी प्रसिद्धि सभी की आंखों में चुभने लगी? उसे पुरुष प्रधान इंडस्ट्री में कितना कुछ लेना पड़ा? शकीला ने अपने करियर की शुरुआत वर्ष 1994 की एक फिल्म 'प्लेगर्ल्स' से की।

इसके बाद शकीला लगभग ढाई सौ फिल्मों में काम कर चुकी हैं। शकीला ने ज्यादातर बी ग्रेड फिल्में कीं और उन्हें नेपाली, चीनी, सिंहली, आदि भाषाओं में डब भी किया गया। शकीला की लोकप्रियता का आलम यह था कि सॉफ्ट पोर्न फिल्म इंडस्ट्री में तो उनकी फिल्मों को 'शकीला की फिल्म' के नाम से भी जाना जाने लगा।


Share Tweet Send
0 Comments
Loading...