तारक मेहता का उल्टा चश्मा शो के राइटर ने खुदकुशी की, भाई ने कहा...

तारक मेहता का उल्टा चश्मा शो के राइटर ने खुदकुशी की, भाई ने कहा...

मशहूर कॉमेडी सीरियल तारक मेहता का उल्टा चश्मा के राइटर अभिषेक मकवाना ने आत्महत्या कर ली। उनका शव 30 नवंबर को मुंबई के कांदिवली में घर में मिला था। अब उनके परिवार ने दावा किया है कि वो साइबर फ्रॉड और ब्लैकमेलिंग का शिकार हुए थे।

परिवार का कहना है कि उन्हें धमकी भरे फोन कॉल्स आ रहे थे। इससे वे मानसिक रूप से बुरी तरह परेशान हो गए थे।

पुलिस ने कहा- सुसाइड की वजह आर्थिक परेशानियां

पुलिस के मुताबिक, अभिषेक ने अपने सुसाइड नोट में आर्थिक परेशानियों को अपनी मौत की वजह बताया है। वहीं, उनके भाई जेनिस ने एक वेबसाइट को दिए इंटरव्यू में कहा कि अभिषेक के साथ साइबर फ्रॉड हुआ था। उन्हें ब्लैकमेल किया जा रहा था। इसकी जानकारी उन्हें तब हुई, जब अभिषेक की मौत के बाद उनके फोन पर कॉल्स आने लगे।

जेनिस ने कहा कि उन्होंने भाई के मोबाइल के मैसेज चैक किए तो एक मैसेज में धमकी दी गई थी कि अगर तुमने लोन नहीं चुकाया तो इसकी जानकारी शेयर कर दी जाएगी। उन्होंने यह भी बताया कि अभिषेक के दोस्तों को इसी तरह के कॉल्स आ रहे थे। इसमें पैसे चुकाने के लिए कहा जा रहा था।

मुंबई की चारकोप पुलिस थाने की टीम मामले की जांच कर रही है।

मुंबई की चारकोप पुलिस थाने की टीम मामले की जांच कर रही है।

'ब्याज के लिए जबर्दस्ती अकाउंट में भेजे पैसे'

जेनिस ने बताया कि भाई की मौत के बाद मैंने उनके ई-मेल भी चेक किए। इस पर भी कई वीडियो कॉल्स आए थे। मैंने चेक किया तो इनमें से एक नंबर बांग्लादेश और एक म्यांमार का भी था। यह भी पता चला कि अभिषेक ने एक ऐप के जरिए लोन भी लिया था। इस लोन की ब्याज दर 30% थी।

मेल चेक करने पर यह भी पता चला कि बाद में थोड़ी-थोड़ी रकम अभिषेक के खाते में जमा की गई थी। इसके लिए अभिषेक ने अप्लाई भी नहीं किया था। मतलब साफ है कि ये रकम जबर्दस्ती अभिषेक के अकाउंट में जमा की गई, जिससे उसके बदले में ब्याज वसूला जा सके।

सुसाइड नोट में परिवार से माफी मांगी

गुजराती भाषा में लिखे सुसाइड नोट में अभिषेक ने जिक्र किया था कि वे पिछले कुछ महीनों से काफी परेशानियों से गुजर रहे थे। हालांकि, उन्होंने परेशानियों से निकलने की काफी कोशिशें भी कीं, लेकिन वे बढ़ती ही जा रही थीं। नोट में उन्होंने परिवार से माफी मांगते हुए लिखा कि वे हिम्मत हार चुके थे।

पुलिस ने कहा - अब तक फ्रॉड की जानकारी नहीं
मामले की जांच कर रही पुलिस का कहना है कि अभिषेक के परिवार ने जो फोन नंबर शेयर किए हैं, उनसे कोई जानकारी नहीं मिल सकी है। अभिषेक के बैंक ट्रांजेक्शन भी चैक किए गए हैं, लेकिन किसी फ्रॉड के सबूत नहीं मिल सके हैं। फिलहाल जांच जारी है।


Share Tweet Send
0 Comments
Loading...